Show me an example

Sunday, September 7, 2008

शिवकुमार मिश्र के प्रयत्न से फीड-यातायात में जबरदस्त उछाल!


@mishrashiv I'm reading: शिवकुमार मिश्र के प्रयत्न से फीड-यातायात में जबरदस्त उछाल!Tweet this (ट्वीट करें)!


मैं शिव की पिछले कुछ महीनों में ब्लॉग सक्रियता और लोकप्रियता में बढ़त से बहुत प्रभावित हूं। आज जब फीडबर्नर का आंकड़ा-ग्राफ देखा तो वास्तव में बहुत प्रसन्नता हुई। आप जरा यह ग्राफ देखें:

Feed Stat

इसमें लाल लकीरें मैने इण्टरपोलेट की हैं। इसमें मुझे पहले कई प्लॉटॉओ (plateau -उच्च तल पर समतल) दीखते हैं:
सितम्बर’०७ से नवम्बर’०७
जनवरी’०८ से मार्च’०८
मार्च’०८ से मई’०८
मई’०८ से जुलाई’०८ से कुछ पहले तक
ये प्लॉटॉओ बताते हैं कि विभिन्न दौरों में शिव ने काफी ब्लॉग-नींद निकाली!

पर उसके बाद तो पाठक/सबस्क्राइबर गतिविधि में तेज बढ़त नजर आती है। और उसके लिये मैं शिवकुमार मिश्र को बधाई देता हूं।


आप जरा इस ब्लॉग की सबसे अधिक पढ़ी गयी पोस्टों पर नजर डालें, जो फीडबर्नर ने बताई हैं:

Feed Stat 2

यह मैं फीडबर्नर की साइट के चित्र से प्रस्तुत कर रहा हूं।
पोस्टों के लिंक निम्न हैं:
http://shiv-gyan.blogspot.com/2008/04/blog-post_25.html
http://shiv-gyan.blogspot.com/2008/05/blog-post_22.html
http://shiv-gyan.blogspot.com/2008/02/blog-post.html
http://shiv-gyan.blogspot.com/2008/04/blog-post_24.html
http://shiv-gyan.blogspot.com/2008/05/blog-post_17.html
http://shiv-gyan.blogspot.com/2008/05/blog-post_15.html
http://shiv-gyan.blogspot.com/2007/09/blog-post_24.html
http://shiv-gyan.blogspot.com/2007/10/blog-post_12.html
http://shiv-gyan.blogspot.com/2008/08/blog-post_28.html
http://shiv-gyan.blogspot.com/2008/05/blog-post_29.html

Gyan
यह पोस्ट ज्ञानदत्त पाण्डेय ने प्रस्तुत की है। शिवकुमार मिश्र से बिना सलाह के। और इसे मेरी शिवकुमार की ब्लॉग-प्रगति पर मुग्धता का प्रतीक माना जाये!

15 comments:

  1. बधाई। कुछ लड्डू-बड्डू का प्रायोजन कीजिए।

    ReplyDelete
  2. हार्दिक बधाईयाँ सर जी ! ग्राफ उतरोतर और
    ऊँचाइयों की तरफ़ बढे इन्ही शुभकामनाओं
    के साथ ! ताऊ रामपुरिया !

    ReplyDelete
  3. कुछ ऐसा सा लगा कि बड़ा साहब दौरे पर आये और प्रगति दे्खकर संतुष्ट हुये। शिवकुमार मिश्र धांसू
    लिखते हैं। उनको पढ़कर कुछ-कुछ वाक्य बहुत दिन तक याद रहते हैं- यथा, कामरेड माने जो काम की रेड़ लगा दे।

    ReplyDelete
  4. ब्लागर मित्रों की जनप्रियता देख कर खुशी होती है!

    ReplyDelete
  5. शिव भाई को बहुत बधाई..पार्टी की घोषणा की जाये. अनेकों शुभकामनाऐं.

    ReplyDelete
  6. शिव जी के लेखन का तो ऐसा कायल हुआ हूं कि एक पत्रिका ने मुझसे लेख मांगा छापने के लिए तो मैने फौरन शिव जी का ई मेल आई डी थमा दिया।

    ReplyDelete
  7. बधाई हो जी !
    - लावण्या

    ReplyDelete
  8. बधाई हो बडे भाई, हमें विश्‍वास है कि 'दुर्योधन की डायरी' को तो अभी और उंचाईंयों पर जाना है एवं आपकी निरंतरता व लेखन क्षमता से ऐसे कई रिकार्ड बनने वाले हैं ।

    ReplyDelete
  9. बधाई हो जी, ग्राफ के बड़े बड़े शिखर बनें.

    ReplyDelete
  10. बहुत -बहुत बधाई।

    ReplyDelete
  11. बधाई और भविष्‍य की ढेर सारी शुभकामनाएं।

    ReplyDelete
  12. Shivji ko bahut badhai ki aap jaise hain unke bhai. pragati jari rahe yahi shubhechcha

    ReplyDelete

टिप्पणी के लिये अग्रिम धन्यवाद। --- शिवकुमार मिश्र-ज्ञानदत्त पाण्डेय